हमारे बारे में

नगर पालिक निगम छिन्दवाड़ा दिनांक सितम्बर 2014 को निगम के रूप में अस्तित्व में आया। पूरे निगम क्षेत्र में कुल 48 वार्ड है। जिसका कुल क्षेत्रफल 11072.231 हेहै। नगर निगम क्षेत्र की कुल जनसंख्या 2,15,843 है। छिन्दवाड़ा शहर हमेशा से ही एक साफ सुथरे तथा सुनियोजित शहर के रूप में जाना जाता है। छिन्दवाड़ा में काफी हरा भरा क्षेत्र है। तथा कई पर्यटक आकर्षण के केन्द्र जैसे धरमटेकडीभरतादेवकाराबोह डेम तथा बादलभोई आदिवासी म्यूजियम आदि है। नगर निगम छिन्दवाड़ा शहर को स्वच्छ बनाने और नगरिकों के लिये कई प्रकार की सुविधाऐ प्रदान करने के लिये निरंतर प्रयासरत है।

              स्वच्छ भारत मिशन सन 2014 से यहा कार्य कर रहा है। शहर में ’’डोर टू डोर’’ कचरा एकत्र करने तथा उसका परिवहन एवं उचित प्रबंधन का कार्य प्राथमिकता के आधार पर किया जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत शहर को खुले में शौच से मुक्त करने के उद्देश्य से कुल 10552 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण लगभग रू. 1435 लाख की लागत से किया गया है। परिणाम स्वरूप दिनांक 31 दिसम्बर 2016 को महापौर द्वारा छिन्दवाड़ा शहर को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया गया है। इसके उपरांत 10 जनवरी 2017 को क्यू सी. आई (क्वालिटी कौसिंल आॅफ इंडिया) द्वारा भी छिन्दवाड़ा  नगर को ओ0डी0एफघोषित कर दिया गया है। स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत छिन्दवाड़ा शहर के विभिन्न स्कूलों महाविद्यालयो झुग्गी बस्तियों ग्रामीण क्षेत्रों सहित वृहद कालोनियों में छात्र-छात्राओं तथा रहवासियों के बीच स्वच्छ वातावरण के निर्माण तथा व्यवहार परिवर्तन के लिये अनेक जनजागरूकता अभियान एवं प्रतियोगिताए आयोजित की गई । कटपुतली प्रदर्शननुक्कड नाटकों प्रेरक गीतो एवं संगोष्ठियों के माध्यम से भी लोगो को जागरूक किया गया एवं नगर की स्वच्छता के लिये प्रबुद्ध नागरिको के सुझाव लिये गये । बेनर पोस्टरों के माध्यम से भी लोगो को गीला सूखा कचरा अलग-अलग एक़ित्रत करने के लिये भी प्रेरित किया गया । छिन्दवाड़ा नगर में कचरा छटाई के लिये फटका मशीन के माध्यम से कचरे से पाॅलिथिन अलग करने का काम किया जा रहा है। 

             स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 में छिन्दवाड़ा नगर में अखिल भारतीय स्तर पर स्वच्छता में 53 वां स्थान हासिल किया है। स्वच्छता ऐप डाऊनलोड करने और इस पर अपनी शिकायते भेजने के मामले में भी छिन्दवाड़ा का 23 वां स्थान रहा है। छिन्दवाड़ा शहर में चलाई जा रही प्रधानमंत्री आवास 

 

योजना हाऊस फोर आॅल ए.एच.पी.घटक के अन्तर्गत 1128 ई.डब्ल्यू.एस. 36 एम.आई.जी. सहित कुल 1160 आवासों का निर्माण आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगो के लिये किया गया है। इनमें से 960 मकानों का आवंटन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान जी के द्वारा विगत जून 2017 को आयोजित हितग्राही कार्यक्रम में किया गया । हाऊस फोर आॅल योजना के लिये कुल रू. 10532.16 लाख राशि का प्रावधान किया गया है। 

अमृत योजना के अन्तर्गत रूपये 75.00 करोड की लागत से जलआवर्धन योजना स्वीकृत की गई है। यू.आई.डी.एस.एस.एम.टी. सड़क एवं नाली फेज-01 एवं फेज- 02 के अन्तर्गत लगभग 7900.00 लाख की लागत से 48.45 कि.मी. सड़क नाली डिवाईडर निर्माण 4.2 कि.मी.सी.सी.रोड तथा 51.64 कि.मी. लम्बी नाली का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है।  

 

वर्ष 2016-17 मंे ही वल्र्ड बैंक से सहायता प्राप्त सीवरेज योजना कुल रूपये 17482.00 लाख की लागत से स्वीकृत हो चुकी है। लगभग रूपये 576.00 लाख की लागत से छोटा तालाब संरक्षण एवं सौन्दर्यीकरण की योजना का कार्य प्रगति पर है। खजरी रोड स्थित रेल्वे क्रासिंग पर रेल्वे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य रू. 2436.00 लाख की लागत पर प्रस्तावित है। 

 

खजरी चैक से लालबाग होते हुये छोटा तालाब तक माॅडल रोड निर्माण कार्य कुल रूपये  576.00 लाख की लागत से प्रस्तावित है। 
 
छिन्दवाड़ा शहर में नागरिक सुविधाओं एवं स्वच्छ पर्यावरण निर्माण के कार्य निरंतर विशेषज्ञो की देख रेख में चलाये जा रहे है। शीघ्र ही छिन्दवाड़ा सर्व सुविधा सम्पन्न एक आधुनिक शहर का रूप प्राप्त कर लेगा । अभी हाल ही में छिन्दवाड़ा नगर का मास्टर प्लान स्वीकृत किया गया है, जो शहर के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।